इस ‘मचान’ ने एक झटके में बदल दी मैथिली की किताबों की दुनिया

पुष्यमित्र इन दिनों नई दिल्ली के अंतरराष्ट्रीय पुस्तकमेला में जहां बड़े-बड़े प्रकाशन अपने स्टॉल पर लोगों को जुटाने के लिए तरह-तरह के आजमाइशों का सहारा ले रहे हैं. लेखक अपने किताबों का प्रचार करने में जुटे हैं, कुछ संस्थानों ने तो कौड़ियों के दाम अपनी किताबों को बेचने के लिए फेरी वालों तक को हायर कर लिया है. एक छोटे से बुक स्टॉल पर अनायास ही भीड़ उमड़ रही है. इतनी भीड़ के पास-पड़ोस के बुक स्टॉल वाले बार-बार परेशान होकर इसकी शिकायत कर आते हैं. स्टॉल वाले को चेतावनी…

Read More