क्या राजनीति की तसवीर बदलेंगी बिहार की ये महिलाएं?

पुष्यमित्र पिछले दिनों चुनावी यात्रा के दौरान जब मैं पूर्णिया जिले के धमदाहा अनुमंडल मुख्यालय में किरण देवी से मिल रहा था, तब तृणमूल कांग्रेस द्वारा लोकसभा चुनाव में 40 फीसदी महिलाओं को टिकट देने और कांग्रेस द्वारा जीत के बाद महिला आरक्षण को पारित कराने की खबर आयी थी. आज जब यह खबर लिख रहा हूं तो बिहार में दोनों गठबंधनों ने मिलकर 80 में से सिर्फ नौ महिलाओं को चुनावी मैदान में उतारा है. उनमें भी ज्यादातर सजायाफ्ता मुजरिमों की पत्नियां हैं. कहीं रेप के सजायाफ्ता राजवल्लभ की पत्नी…

Read More

जानिये कौन जाति राजनीतिक रूप से मजबूत है बिहार में?

अब जबकि बिहार में दोनों प्रमुख गठबंधनों के उम्मीदवारों की सूची जारी हो गयी है, ऐसे में यह देखना दिलचस्प होगा कि बिहार की कौन सी जाति राजनीतिक रूप से मजबूत है. हालांकि लोकतंत्र का सिद्धांत इस बात की खिलाफत करता है कि मतदाताओं को जात और धर्म से परे हटकर मतदान करना चाहिए. मगर जमीनी हकीकत यह है कि आज देश में ज्यादातर मतदान इसी आधार पर हो रहे हैं. इस लोकसभा चुनाव में तो बिहार में जाति ही सबसे बड़ा मुद्दा है. राजनीतिक दल न सिर्फ टिकट का…

Read More

बिहार की वीणा, विभा, नीलम, लेसी, लवली, बीमा, हिना और रंजीता

पुष्यमित्र आज बिहार में महागठबंधन की ओर से सीट शेयरिंग और पहले चरण के उम्मीदवारों की घोषणा हो गयी. इसमें बताया गया कि नवादा से विभा देवी चुनाव लड़ेंगी, वे एनडीए की वीणा सिंह को टक्कर देंगी. खबर यह भी है कि नीलम देवी मुंगेर से चुनाव लड़ेंगी और जदयू के ललन सिंह को मुकाबले में चित करने का प्रयास करेंगी. रंजीता के सुपौल से कांग्रेस के उम्मीदवार होने की संभावना है. हिना सीवान से मैदान में उतरेंगी. लवली भी कहीं न कहीं से टिकट के लिए प्रयासरत हैं और…

Read More

कौन है भारतीय राजनीति का सबसे बड़ा नौटंकीबाज

मोदी जी ने बनारस में सफाई कर्मियों के पैर धोते हुए फोटुएं खिंचवाई. जाहिर सी बात है इन फोटुओं को वायरल होना था. कई लोगों ने इसे युगांतकारी कदम बताया, तो कई लोगों ने फुलप्रूफ पोलिटिकल नौटंकी. दोनों धड़े फेसबुक पर अपने अपने तर्कों के साथ लड़ रहे हैं. मैं वैचारिक तौर पर सफाई कर्मियों के लिए संघर्ष करने वाले मैग्सेस अवार्ड विजेता बेजवाड़ा विल्सन के साथ हूं, वे कहते हैं कि पैर धोने से मोदी जी तो महान हो सकते हैं, मगर हर रोज देश के किसी न किसी…

Read More

बेमौसम बरसात नहीं है राजद की पोलिटिकल घेराबंदी

p.m. बिहार में इन दिनों अचानक राजनीतिक गतिविधियां तेज हो गयी हैं. कुशवाहा शिक्षा के लिए मानव श्रृंखला बनाते हैं और उसमें राजद शामिल होता है. राजद के थिंक टैंक शिवानंद तिवारी आनंद मोहन से मिलने जेल में चले जाते हैं. राजद की तरफ से कहा जाता है कि पप्पू यादव तो अपना आदमी है. जीतनराम मांझी अफसोस जताते हैं कि विधानसभा भंग नहीं करना उनकी सबसे बड़ी भूल थी. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कभी प्रेस को बताते हैं कि कोई भ्रम में न रहे एनडीए ही जीतेगा. और कभी अपने…

Read More