चौबीस साल साल से बिहार की नदियों पर कोई अध्ययन नहीं हुआ है नीतीश जी

नीतीश कुमार जी की मासूमियत का कोई जवाब नहीं. कल वे एनआईटी में छात्रों से बोल आये कि आपको बिहार की नदियों पर अध्ययन करना चाहिए. मगर उनकी सरकार का जल संसाधन विभाग नदियों पर क्यों अध्ययन नहीं करता, इस बारे में वे कुछ नहीं बोले. हकीकत यह है कि 1994 के बाद बिहार की नदियों पर कोई अध्ययन नहीं हुआ है. जबकि कायदे से हर दस साल में जलसंसाधन विभाग को इरिगेशन कमीशन का गठन कर इन नदियों का अध्ययन कराना चाहिए था. नीतीश कुमार ने कल ठीक कहा…

Read More

स्कूलों में पहले किताबें पहुंचाइये सीएम साहब, समाज सुधार का संदेश थोड़ी देर में भी पहुंचेगा तो चलेगा

डियर नितीश कुमार जी शराबबंदी या फिर यूं कहें कि पूर्ण शराबबंदी के समर्थन में मैं भी हूं. सिर्फ पूर्ण शराबबंदी ही नहीं अपितु मैं तो पूर्ण नशामुक्ति का भी पक्षधर हूं. आपने बिहार में पूर्ण शराबबंदी करके एक नेक कार्य किया है जो निश्चित रूप से सराहनीय है. इससे न जाने कितने परिवार में फिर से खुशियां लौटी हैं. आपको उन सब की दुआएं मिल रही हैं. अधिक सम्भव है कि वो चुनाव के दौरान अथवा उसके परिणाम आने पर आपको दिखे भी. इन दिनों आप समीक्षा यात्रा पर…

Read More

लोकतंत्र में कातर जनता की असली जगह कतार ही है #मानवश्रृंखला

पिछले साल जब शराबबंदी के खिलाफ मानव श्रृंखला का पहला आयोजन हुआ था तो यह फेसबुक पोस्ट लिखी थी. आज एक मित्र ने इस पोस्ट को शेयर करते हुए लिखा है कि इस आलेख में शराबबंदी के साथ दहेज प्रथा और बाल विवाह का विरोध भी जोड़ दें तो यह आलेख आज के लिए भी फिट है. बस इस बार के आंकड़े थोड़े अलग होंगे… पुष्यमित्र लोकतांत्रिक शासकों के ऊपर भी कभी-कभार मध्यकालीन सत्ताधीशों वाली सनक सवार हो जाती है. वे भी जमीनी काम छोड़ कर भांति-भांति के करतबों को…

Read More

एक अनोखी रेल यात्रा, छह किमी का सफर 45 मिनट में, पटरियों पर बंधे भैंस और ताश खेलते लोग

आखिरकार पटना शहर के आर ब्लॉक-दीघा रेलवे रूट की अजीबोगरीब स्थिति को पटना हाईकोर्ट ने खत्म कराने का फैसला कर लिया है. रेलवे इस छह किमी के रूट पर रोज ट्रेन की दो फेरी महज इसलिए लगवाता रहा है कि कहीं उसकी 71.25 एकड़ जमीन पर गरीब लोग कब्जा करके घर न बना लें. इस पटरी पर जिस तरह गाय और भैंस बंधी रहती हैं और लोग बैठकर ताश खेलते हैं, ऐसी स्थिति में यह बात सच ही लगती है. मगर जब बिहार सरकार रेलवे से यह जमीन फोरलेन सड़क…

Read More

दबाव नहीं है, तो मानव श्रृंखला का क्यों विरोध कर रहे हैं शिक्षक

हाई कोर्ट में बिहार सरकार ने कहा है कि किसी पर मानव श्रृंखला में शामिल होने का दबाव नहीं है, मगर जमीनी हकीकत बिल्कुल अलग है. कई जगह शिक्षा विभाग के अधिकारियों और शिक्षकों के बीच तू-तू, मैं-मैं की नौबत आ रही है. अब नीचे अररिया और किशनगंज के दो वीडियोज को देखिये. पहले वीडियो में एक शिक्षक पूरे तर्क के साथ मानव श्रृंखला में शामिल नहीं होने की बात कर रहा है. दूसरे वीडियो में किशनगंज में शिक्षक विद्रोह करने औऱ सरकार को चुनौती देने पर उतारू नजर आ…

Read More

कड़ाके की ठंड में छोटे बच्चों को सड़कों पर खड़ा करने की सरकारी जिद

P.M. यह तसवीर पिछले साल की मानव श्रृंखला की है. जब अररिया में स्कूली बच्चों को उफनती नदी के नीचे चचरी के पुल पर खड़ा कर दिया गया था, ताकि बिहार के मुख्यमंत्री की जिद पूरी हो सके. इस साल भी एक सनकी राजा की जिद पूरी करने के लिए प्रशासन जमीन-आसमान एक कर रहा है. एक समय बाद हर समझदार आदमी सनकी हो जाता है और सनक में उस व्यक्ति को यह भी समझ नहीं आता कि वह जो कर रहा है वह मजह उसकी जिद है. पिछले एक…

Read More

नौ साल पहले खुदे थे गड्ढे, आज बन रहे शौचालय, पब्लिक ऐसे ही रोड़ेबाजी नहीं करती

कल बक्सर में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के काफिले पर पत्थरबाजी हो गयी, कई लोग घायल हुए. आनन-फानन में सरकारी अमले ने इसे विरोधियों की साजिश बता दिया और जांच के आदेश जारी कर दिये. मगर क्या सरकार गंभीरता से सोचती है कि क्यों मुख्यमंत्री के काफिले पर ईंट फेंका गया? यह विरोधियों की साजिश कतई नहीं है. सरकारी अधिकारियों की खुराफात का नतीजा है. मुख्यमंत्री अपनी यात्रा के दौरान जिस-जिस गांव में जाने वाले होते हैं, जिले के सभी अधिकारी मिलकर उस गांव को टेंपरेरी स्वर्ग बनाने में जुट जाते…

Read More

किताबें खरीदने के लिए पैसा नहीं, बंद हो गयी बिहार की पांच सौ पब्लिक लाइब्रेरी

भागलपुर के प्रसिद्ध भगवान पुस्तकालय के वाचनालय की यह तसवीर लेखक राजीव रंजन प्रसाद के ब्लॉग से साभार ली गयी है. वे कुछ साल पहले इस लाइब्रेरी में गये थे. यहां किताबों की दुर्दशा देखकर इतने आहत हए कि उन्होंने बिहार सरकार को पत्र लिखकर इसे बचाने की मांग की थी. बिहार कवरेज इन दिनों सोशल मीडिया पर हर जगह किताबें ही किताबें नजर आ रही हैं. इस कड़ाके की ठंड में भी लोग दिल्ली के पुस्तक मेला में किताबें खरीदने के लिए उमड़ रहे हैं. पटना का पुस्तक मेला…

Read More

सुलिंदाबाद को स्वीडन बनाने में जुटे हैं अधिकारी, कल सीएम आयेंगे

कुमार आशीष मुख्यमंत्री नीतीश कुमार विकास योजनाओं की समीक्षा यात्रा पर चार जनवरी को जिले के कहरा प्रखंड के सुलिंदाबाद पहुचेंगे. समीक्षा यात्रा के दौरान सुलिंदाबाद गांव के वार्ड नंबर पांच में सात निश्चय योजनाओं का निरीक्षण करेगें. इसको लेकर जिला प्रशासन सरकार के सात निश्चय कार्यक्रम के तहत संचालित योजनाओं को धरातल पर उतारने की में जूटी है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सुलिंदाबाद स्थित एकलव्या सेंट्रल स्कूल के समीप मैदान में सभा को भी संबोधित करेगें. मुख्यमंत्री के आगमन को लेकर जिला प्रशासन दिन-रात तैयारी में जूटी है. बिहार के…

Read More

एबीपी के वीडियो में साफ दिख रही है ‘गुंडा-गर्दी’, क्या कार्रवाई करेंगे सुशासन बाबू?

बिहार कवरेज एबीपी बांग्ला का फुटेज सामने आने के बाद बिहार की मीडिया का वह धड़ा सकते में है, जो कल बंगाल के तारापीठ में बिहार के नगर विकास मंत्री की पिटाई की खबर पर उग्र हो गया था और पश्चिम बंगाल की सरकार पर कार्रवाई की मांग करने लगा था. खुद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी बंगाल सरकार को शिकायत करने का मन बना लिया था. वीडियो देखिये- Nitish Kumar’s Minister doing Goondagardi in WB. He & his goons beating hotel staff. BJP goons defaming Bihar. Minister is blue…

Read More