यहां आज भी अपने घर का सपना सीमेंट-बालू से नहीं बांस से पूरा होता है

कोसी के इलाके में बांस का इस्तेमाल किस-किस रूप में होता है, आप उसकी कल्पना भी नहीं कर सकते. यह तसवीर सुपौल के एक स्कूल की है, जो पूरी तरह बांस से बनी है. तसवीर डाउन टू अर्थ से साभार… मिथिलेश कुमार राय बांस के बारे में कभी कुछ सुनता हूँ तो आँखों के सामने हठात् ही कुछ दृश्य कौंध जाते हैं. कुछ दिन पहले की बात है. कपलेश्वर की विधवा कह रही थीं कि उस दिन कुछ बाँस बिक गए तो थोड़े से पैसे आए हैं हाथ में. सोच…

Read More