जानिये, आज से शुरू हो रहे ‘भोजपुरिया महाजुटान’ में कौन-कौन जुटेंगे, क्या-क्या होगा?

भोजपुरी मतलब सिर्फ द्विआर्थी भोजपुरी सिनेमा और गाने नहीं है. भोजपुरी मतलब जिंदादिली है. जीवन के अपार कष्टों के बीच हंसने-हंसाने और मस्त रहने का हुनर है. बाजारवाद की भेंट चढ़ गयी इस पहचान को फिर से जगाने के लिए आखर संस्था हर साल किसी गांव में जुटान करता है और गीत-संगीत की मस्ती के जरिये भोजपुरिया स्वाभिमान को जगाने की कोशिश करता है. आज से यह महाजुटान एक बार फिर पंजवार में होगा. आखर के साथियों ने यह जानकारी भेजी है. 3 दिसम्बर  को भारत के पहले राष्ट्रपति डॉ…

Read More