बिहार में अब गांवों में भी लोग चंदा करके सीसीटीवी कैमरा लगवाने लगे हैं

इन दिनों न सिर्फ शहरी बल्कि बिहार के ग्रामीण इलाकों से भी चोरी और अपराध से जुड़ी खबरें खूब आ रही हैं. बताया जा रहा है कि पुलिस प्रशासन की पूरी ताकत शराबबंदी सफल कराने जैसे काम में लगी है, जिससे दूसरे अपराध लगातार बढ़ रहे हैं और लोग परेशान हैं. ऐसे में बिहार के एक गांव के युवकों ने गांव में क्राइम कंट्रोल करने के लिए डिजिटल तकनीक को अपनाया है. उन लोगों ने पूरे गांव में जगह-जगह सीसीटीवी कैमरे लगवा लिये हैं. आइये जानते हैं उस गांव की कहानी

कुमार आशीष

सहरसा जिले के कहरा प्रखंड स्थित बनगांव के लोग अपराधियों से परेशान हो चुके थे. सुनसान घर में चोरी, सड़क पर शराब पीने वालों का हंगामा व चोरी किये गये सामान को गांव से बाहर ले जाना अपराधियों के लिए आम बात हो गयी थी. शिकायत करने पर पुलिस गांव में तो आ जाती थी, लेकिन खौफ का आलम यह था कि कोई गवाही नहीं देना चाहता था. अंत में ग्रामीणों ने चंदा कर के पूरे गांव में सीसीटीवी लगावा दिया है. बनगांव में बढ़ते अपराधों को लेकर लोग चिंतित हैं. इन पर लगाम लगाने के लिए ग्रामीणों ने अपने स्तर पर गांव में अधिक से अधिक सीसीटीवी कैमरे लगवाने की मूहिम शुरु होने से क्षेत्र में चर्चा होने लगी है. इसके लिए पॉइंट चुन लिए गए हैं. शनिवार को गांव के आधा दर्जन चौराहें पर कैमरा लगाने का काम शुरू कर दिया गया है.

ग्रामीण ब्रहृमानंद झा, दीपक झा, राहुल झा ने बताया कि बढ़ते अपराध को देखते हुए हर वार्ड में आठ से 10 स्थानों पर कैमरे लगाए जाएंगे. इसके लिए गांव के लोगों ने बीते एक साल में हुए अपराधों का अध्ययन किया है. जिन स्थानों पर सबसे अधिक अपराध की घटना होती है, उन जगहों पर पहले चरण में कैमरे लगाने का काम शुरु कर दिया गया है. क्षेत्र में कैमरे लगाने के लिए ग्रामीणों ने हर स्तर पर मदद करने का भरोसा दिया है.

अपराधियों के रोज-रोज के आतंक से छुटकारा पाने के लिए गांव के युवकों ने डिजिटल तरीका निकाल अपने विचार से गांव के अन्य लोगों को भी अवगत कराया. इसके साथ ही पूरे गांव के लोगों ने चंदा कर सीसीटीवी कैमरा लगाने का निर्णय लिया गया.

गांव में पांच-छह प्रमुख जगहों पर सीसीटीवी कैमरा लगाया गया है. ताकि अपराधियों द्वारा अंजाम दिए गए हर वारदात का सबूत पुलिस को कैमरे के जरिये दिया जा सके. शिक्षित लोगों की आबादी वाले इस गांव की चर्चा आज प्रखंड ही नहीं पूरे जिले में हो रही है. इस बाबत ग्रामीण बताते है कि अब पुलिस को भी आपराधिक घटनाओं के अनुसंधान में काफी मदद मिलेगी. साथ ही अपराध पर अंकुश लगाया जा सकेगा. इस अभियान को सफल बनाने में ग्रामीण बाबू चौधरी, संजय खां उर्फ मिस्टर, जयराम साह, अक्षय झा सहित अन्य ने सहयोग किया है. सीसीटीवी संचालन के लिए एक केंद्र भी बनाया गया है. गांव में जनता के सहयोग से हर वार्ड में सीसीटीवी लगाने का अभियान चलेगा. ग्रामीण भी बढ़चढ़ कर सहयोग कर रहे है.

Spread the love
  • 1
    Share

Related posts