रामविलास की गोद में भी कुपोषित ही रह गया अकबर मलाही का छड़ी उद्योग

संजीत भारती केन्दीय मंत्री रामविलास पासवान ने जब अपने लोकसभा क्षेत्र हाजीपुर के सराय के अकबर मलाही गांव को गोद लेने की घोषणा की थी, तब इलाके के लोगो में खुशी की लहर दौड़ गयी थी. लोगों को उम्मीद थी कि अपने ठोस विजन से वे गांव में विकास की इबारत लिखेंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ. पांच साल बीत गए, पर विकास कार्य अब तक ठप पड़े हैं. गोद लेने के बावजूद गांव की दम तोड़ती छड़ी उद्योग, जर्जर सडकें, गंदगी, नहीं बने अस्पताल, शुद्ध पेयजल की समस्या, रोजगार की…

Read More

क्या राजनीति की तसवीर बदलेंगी बिहार की ये महिलाएं?

पुष्यमित्र पिछले दिनों चुनावी यात्रा के दौरान जब मैं पूर्णिया जिले के धमदाहा अनुमंडल मुख्यालय में किरण देवी से मिल रहा था, तब तृणमूल कांग्रेस द्वारा लोकसभा चुनाव में 40 फीसदी महिलाओं को टिकट देने और कांग्रेस द्वारा जीत के बाद महिला आरक्षण को पारित कराने की खबर आयी थी. आज जब यह खबर लिख रहा हूं तो बिहार में दोनों गठबंधनों ने मिलकर 80 में से सिर्फ नौ महिलाओं को चुनावी मैदान में उतारा है. उनमें भी ज्यादातर सजायाफ्ता मुजरिमों की पत्नियां हैं. कहीं रेप के सजायाफ्ता राजवल्लभ की पत्नी…

Read More

जानिये कौन जाति राजनीतिक रूप से मजबूत है बिहार में?

अब जबकि बिहार में दोनों प्रमुख गठबंधनों के उम्मीदवारों की सूची जारी हो गयी है, ऐसे में यह देखना दिलचस्प होगा कि बिहार की कौन सी जाति राजनीतिक रूप से मजबूत है. हालांकि लोकतंत्र का सिद्धांत इस बात की खिलाफत करता है कि मतदाताओं को जात और धर्म से परे हटकर मतदान करना चाहिए. मगर जमीनी हकीकत यह है कि आज देश में ज्यादातर मतदान इसी आधार पर हो रहे हैं. इस लोकसभा चुनाव में तो बिहार में जाति ही सबसे बड़ा मुद्दा है. राजनीतिक दल न सिर्फ टिकट का…

Read More

क्या रंजीत रंजन की वजह से फंस गया है महागठबन्धन?

पुष्यमित्र चुनाव सर पर है। दूसरे चरण का भी नोमिनेशन चल रहा है। मगर महागठबंधन है कि फाइनल हो ही नहीं रहा है। आज सुबह से ऐसी चर्चा तेज है कि यह गठबन्धन टूट भी सकता है। आखिर इस टूट की वजह क्या? खबर मिली है कि यह सारा मामला सुपौल की निवर्तमान सांसद रंजीत रंजन की वजह से फंसा है। पप्पू यादव से बुरी तरह चिढ़ने वाले तेजस्वी चाहते हैं कि कांग्रेस वहां उम्मीदवार बदल ले। जबकि दरभंगा के मसले पर पहले ही समझौते के लिये तैयार कांग्रेस अब…

Read More

कन्हैबा, गिरराज बाबू और बेगुसराय, ई बेकुफसराय थोड़े ही है

पुष्यमित्र गिरराज बाबू नम्बर वन हैं, तनवीर हसन दू नम्बर पर और कन्हैबा तीन नम्बर पर। लिखकर रख लीजिये। यही फाइनल रिजल्ट होगा। कन्हैबा को गठबंधन का टिकट मिल गया होता तो जरूर वह आज आगे होता। अभी तो महागठबंधन लड़ रहा है, गिरराज बाबू को बैठे बैठे फायदा हो रहा है। कोई भुमिहार उमिहार कन्हैबा को वोट नहीं देगा। बेगूसराय है, बेकुफसराय थोड़े ही है। आ लेफ्ट भी पूरा कन्हैबा के साथ नहीं है। शत्रुघ्न बाबू खार खाए बैठे हैं। मीटिंग उटिंग में जाते जरूर हैं, मगर अन्दरे अन्दर…

Read More

बिहार में किसका गठबंधन मजबूत

पुष्यमित्र लम्बे समय से चल रहे मंथन, संवाद, विवाद और तीखे बयानों के तीर के बाद कल आखिरकार बिहार में महागठबंधन ने आखिरकार सीट शेयरिंग का फार्मूला घोषित कर दिया। हालांकि कौन कहां से लडेगा यह अभी फाइनल नहीं बताया गया है और यह भी तय नहीं है कि अब आगे इस गठबन्धन में झगड़े नहीं होंगे। सीट शेयरिंग से यह भी साफ है कि बड़े भाई राजद ने विचार के बदले जाति को महत्व दिया है, वाम दलों को किनारे कर मांझी, कुशवाहा और मुकेश साहनी जैसे जातिगत सरगनाओं…

Read More

आडवाणी की गिरिराज गति

पुष्यमित्र हालांकि इस आलेख का शीर्षक थोड़ा अजीब है. भाजपा के पूर्व अध्यक्ष, पूर्व लौह पुरुष और पूर्व फायरब्रांड संघी लालकृष्ण आडवाणी तकरीबन हर मामले में निवर्तमान फायरब्रांड नेता गिरिराज सिंह से सीनियर हैं. यहां तक कि उन्हें उस गति तक पहुंचाने की प्रक्रिया काफी पहले से चल रही है, जिस गति की तरफ गिरिराज सिंह को आज भेजा जा रहा है. मगर चूंकि मामला थोड़ा टटका है, इसलिए इस फिनॉमिनन को गिरिराज गति का नाम देने का ही मेरा मूड बन गया. गिरिराज गति नामक फ्रेज मेरे मन में…

Read More

ममता दीदी के बंगाल में लॉटरी एडिक्शन क्यों नहीं बनता चुनावी मुद्दा

पुष्यमित्र ममता दीदी के बंगाल में जिस चीज ने सबसे पहले मेरा ध्यान खींचा, वह थी लॉटरी. जिस किसी बाजार से होकर मैं गुजर रहा था, हर दस कदम पर एक लॉटरी का स्टॉल नजर आ जाता. और किसी भी स्टॉल पर चाहे वह बेंच पर ही टिकट रख कर क्यों न बेच रहा हो, चार लोग खड़े जरूर दिख रहे थे. अब चुकि मैं जिस इलाके से हूं, वहां के लिए यह दृश्य अकल्पनीय है. बिहार में हमने न जाने कब से खुलेआम लॉटरी बिकते नहीं देखा है. ऐसे…

Read More

किशनगंज में आखिर क्यों कोई एनडीए नेता चुनाव लड़ने के लिए तैयार नहीं है?

जी हां, यह अजीब सिचुएशन है. किशनगंज पहुंचते ही इस सिचुएशन का पता चला. यहां के स्थानीय पत्रकारों ने बताया कि भले ही देश में भाजपा और एनडीए की तूती बोल रही हो. उसके टिकट के लिए मारामारी चल रही हो, मगर किशनगंज लोकसभा सीट से कोई बड़ा एनडीए नेता चुनाव लड़ने के लिए तैयार नहीं है. बीजेपी से एक बार लोकसभा चुनाव लड़े चुके पार्टी के कोषाध्यक्ष दिलीप जायसवाल ने भी अब मना कर दिया है, वे चाहते हैं कि उन्हें किशनगंज छोड़कर किसी दूसरे सीट से टिकट दिया…

Read More

जानिये, आज क्यों देश के 150 पुलिस थानों में पीएम मोदी के खिलाफ मुकदमे दर्ज हुए

बिहार कवरेज डेस्क आज फरवरी महीने की आखिरी तारीख को जब हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भाजपा कार्यकर्ताओं को अपना बूथ मजबूत करने के टिप्स दे रहे थे, और इसी बहाने दुनिया की सबसे बड़ी वीडियो कांफ्रेंसिग को संबोधित करने का रिकार्ड भी बना रहे थे, ठीक उसी रोज देश के अलग-अलग इलाके के मनरेगा कार्यकर्ताओं ने अपने-अपने निकटवर्ती पुलिस थाने में जाकर पीएम मोदी के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया. अब तक मिली सूचना के मुताबिक देश के 50 जिलों के 150 पुलिस थानों में पीएम नरेंद्र मोदी के…

Read More