टिकुली आर्ट से सजेगा राजेंद्र नगर टर्मिनल, आइये जानते हैं इस खूबसूरत चित्रकला की कहानी

आज दैनिक भास्कर अखबार के पन्ने पर यह खबर दिखी कि राजेंद्र नगर स्टेशन को टिकुली आर्ट से सजाया जायेगा. मधुबनी स्टेशन से शुरू हुई अपने स्टेशनों को स्थानीय चित्रकला से सजाने की परंपरा का यह विस्तार सुखद है. टिकुली कला का जन्म पटना के आसपास के इलाके में ही हुआ है, लिहाजा इसका राजेंद्र नगर स्टेशन की दीवारों पर उतरना न सिर्फ स्टेशन को खूबसूरत बनायेगा, बल्कि इसे एक स्थानीय पहचान भी देगा. मगर क्या आप टिकुली चित्रकला और इसकी खूबियों के बारे में जानते हैं? अगर नहीं तो…

Read More

संतूर दुनिया को कश्मीर का सबसे नायाब तोहफा है- अभय सोपोरी

बासु मित्र कश्मीर के सोपोरी सूफियाना घराना से ताल्लुक रखने वाले मशहूर संतूर वादक अभय रुस्तुम सोपोरी किस परिचय के मुहताज नहीं हैं. स्पीक मैके के प्रोगाम में पहली बार पूर्णिया आये. विद्या विहार इंस्टीच्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के सभागार में अभय रुस्तुम सोपोरी ने संतूर और कश्मीर के वर्तमान हालत के साथ-साथ देश के विलुप्त हो रही लोककला पर दिल खोल कर बात की. उन्होंने कहा कि कुछ दशक से बदलते लाइफ स्टाइल के कारण युवा कल्चर से दूर होते जा रहे हैं. देश में आज एडवांस इण्डिया की बात…

Read More

‘मुक्काबाज’ हमारे समाज में चल रही अनेक सच्चाइयों का कहन है

  उज्ज्वल कुमार अनुराग कश्यप की मुक्कबाज़. फ़िल्म हमारे समाज मे चल रहे अनेक सच्चाइयों का कहन है. फ़िल्म में मुख्य किरदार में जिमी शेरगिल, विनीत कुमार सिंह और जोया हुसैन है. तीनों ने बहुत ही सराहनीय और जीवंत भूमिका निभाई है. अपने जीवन के उद्देश्यों को पूरा करने के जुनून में श्रवण सिंह (विनीत कुमार सिंह), दबंग नेता भगवान दास मिश्रा (जिमी शेरगिल) के शोषण के खिलाफ एक छोटी सी आवाज़ उठता है. भगवान दास मिश्रा अपने दबंगीयत से और खेल चयन समीति के उच्च पद का गलत फायदा उठा…

Read More

सिलीगुड़ी के एंबुलेंस दादा की लाइफ पर बायोपिक बनायेगा राजश्री प्रोडक्शन

बिहार कवरेज लगता है बायोपिक को फिल्मी दुनिया में सफलता की गारंटी मान लिया है. औऱ अब यह दौर खिलाड़ियों से आगे बढ़कर सोशल वर्करों तक पहुंच गया है. पैडमैन अरुणाचलम मुरुगानाथम के बाद अब सिलीगुड़ी के एंबुलेंस दादा करीमुल पर बायोपिक बनाने की बात हो रही है. और यह बायोपिक कोई और नहीं राजश्री प्रोडक्शन बना रहा है. यह जानकारी खुद एंबुलेंस दादा करीमुल ने मीडिया को दी है. करीमुल ने बताया कि कुछ रोज पहले राजश्री प्रोडक्शन के लोग उनसे मिलने उनके घर आये थे, जहां उनलोगों ने…

Read More

मॉस्को नाइट : वरजिन्स मेन्स क्लब जहाँ लोग ऑर्गेज्म ख़रीदते हैं

बकर पुराण के लेखक अजीत भारती अपने मित्र धैर्यकांत के साथ इन दिनों रूस की यात्रा पर हैं और सोशल मीडिया पर वे लगातार वहां की दुनिया के बारे में लिख रहे हैं. उनका यह पीस वरजिन्स मेंस क्लब के बारे में है. यूरोप के कई मुल्कों में न्यूड और सेमीन्यूड डांस क्लबों की मौजूदगी बहुत आम-फहम बात है, उन्हें कानूनी इजाजत भी है. हालांकि अपने यहां सोनपुर मेला में भी थियेटरों में होने वाले डांस प्रशासन की आंख में धूल झोंक कर अक्सर सेमी न्यूड और न्यूड हो जाया…

Read More

‘वह फिल्म जिसने तमिल राजनीति को फिल्मी बना दिया’

तमिल फिल्म के इस वक्त के मेगा सुपर स्टार रजनीकांत ने अपनी अलग राजनीतिक पार्टी बनाने की घोषणा की है. और इस बात में किसी को भी आश्चर्य नहीं होगा अगर उनकी पार्टी वहां की राजनीति में जड़ जमा ले या पहले ही दांव में सत्ता पर काबिज हो जाये. क्योंकि तमिलनाडु राज्य में आज उनकी हैसियत किसी ईश्वर से कम नहीं. लोग उनके नाम पर जान देने के लिए तैयार रहते हैं. रजनीकांत ऐसे पहले सिने सितारे नहीं हैं जिनको लेकर दक्षिण भारत में ऐसा जुनून हो. उनसे पहले…

Read More

सौ मर्डर करके महायज्ञ कराने से पाप कम नहीं हो जाते कल्पना मैडम

गायिका कल्पना को तो आप सब जानते ही होंगे. भोजपुरी गीतों को अश्लीलता का पर्याय बना देने में जिन चंद लोगों की बड़ी भूमिका है उनमें निश्चित तौर पर एक गायिका कल्पना हैं. मगर अब जब भोजपुरी समाज के भीतर से इस अश्लीलता के खिलाफ आवाज उठ रही है तो गायिका कल्पना न सिर्फ खुद को भिखारी ठाकुर का तारणहार बताने में जुटी हैं, बल्कि मंच से भोजपुरिया समाज को ही डांटने डपटने लगती हैं. जानकार बताते हैं कि अश्लीलता से पैसे बटोरने के बाद अब कल्पना भेस बदलकर पद्मश्री…

Read More

बेगूसराय में खुलेंगे ‘दयाशंकर की डायरी’ के पन्ने, पहुंचे आशीष विद्यार्थी, नादिरा बब्बर

साहित्य, रंगकर्म और जनवाद का केंद्र माने-जाने वाले बेगूसराय में आज नादिरा बब्बर के मशहूर प्ले दयाशंकर की डायरी का मंचन होने जा रहा है. और इस मंचन में भाग लेने इस प्ले की पहचान बन चुके अभिनेता आशीष विद्यार्थी बेगूसराय पहुंच गये हैं. उनके साथ प्रसिद्ध रंगकर्मी आलोक चटर्जी भी हैं. आलोक चटर्जी ने एक ढाबे से यह सेल्फी पोस्ट की है, जो इस खबर के साथ लगी है. बेगूसराय में इस फेमस प्ले का मंचन राष्ट्रीय नाट्य महोत्सव रंग ए माहौल 2017 के आखिरी दिन आज होगा. पिछले…

Read More

देखिये, चरखवा चालू रहे गीत पर चंदन के साथ कैसे झूमने लगी गांव की किशोरियां

राजधानी पटना के यूथ हॉस्टल में कल से बाल विवाह के खिलाफ उठ खड़ी होने वाली किशोरियोंका जमावड़ा है. दिन भर काम की बातें भी हुईं और मौज मस्ती भी. शाम के वक्त तब वहां का नजारा उल्लासमय हो गया, जब भोजपुरी गायिका चंदन तिवारी के गाये गीतों पर ये किशोरियां झूमने-नाचने लगीं. आइये, देखें इस वीडियो को…

Read More

वह ‘पृथ्वी थियेटर’ का छोरा और वो ‘शेक्सपियराना’ की छोरी

P.M. तब शशि कपूर सिर्फ 18 साल के थे. तब उनके पिता की नाटक मंडली पृथ्वी थियेटर भी घुमंतू थी. वे पूरे देश में घूम-घूम कर नाटक किया करते थे. इन नाटक कंपनियों में पृथ्वीराज कपूर के बच्चे भी हुआ करते थे. पहले राज कपूर और शम्मी कपूर इस मंडली के हिस्सा हुआ करते थे. जब ये दोनों फिल्मों में आ गये तो छोटे शशि कपूर अपने पिता के साथ घूमने लगे. ऐसी ही एक ट्रिप पर वे 1956 में कलकत्ता पहुंचे, एक नाटक लेकर. वहां एक लोकल नाटक मंडली…

Read More