वुलर झील में एक छोटा सा स्कूल और कश्मीर के सवालों का ‘नोटबुक’

पु्ष्यमित्र चिनार के पत्ते जब नोटबुक में पड़े मिलते हैं तो मीठी यादें जगाते हैं, अगर उनका सूखा ढेर बिखरा हो तो वे सुलग भी उठते हैं और सबकुछ तबाह कर देते हैं। यही तो कहानी है आज के कश्मीर की। धरती का स्वर्ग माने जाने वाले कश्मीर में इन दिनों शोलों के भड़कने का मौसम है। मगर कल रिलीज हुई फ़िल्म ‘नोटबुक’ शबनम की तरह ठंडे हाथों से जख्मों को सहलाती हुई हमारे मन में मीठा प्रेम जगाती है। गुलज़ार की माचिस से लेकर, फ़िज़ा से होते हुए हैदर…

Read More

इस डबल इंजन सरकार का क्या फायदा? केंद्र ने कई योजनाओं का आधा से अधिक आवंटन रोक लिया

2016 में राजद से अलग होकर जब बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्य में भाजपा के साथ सरकार बनायी थी तो उस वक़्त यह कहा गया था कि अब यहां भी डबल इंजन सरकार होगी। मतलब राज्य और केंद्र में एक ही गठबंधन की सरकार इससे विकास की गति तेज हो जायेगी। मगर नतीजे बताते हैं कि इस डबल इंजन सरकार से बिहार को कोई खास फायदा नहीं हुआ। इस बात को आज प्रभात खबर में छ्पी इस खबर से समझा जा सकता है। खबर के मुताबिक केंद्र द्वारा…

Read More

क्या राजनीति की तसवीर बदलेंगी बिहार की ये महिलाएं?

पुष्यमित्र पिछले दिनों चुनावी यात्रा के दौरान जब मैं पूर्णिया जिले के धमदाहा अनुमंडल मुख्यालय में किरण देवी से मिल रहा था, तब तृणमूल कांग्रेस द्वारा लोकसभा चुनाव में 40 फीसदी महिलाओं को टिकट देने और कांग्रेस द्वारा जीत के बाद महिला आरक्षण को पारित कराने की खबर आयी थी. आज जब यह खबर लिख रहा हूं तो बिहार में दोनों गठबंधनों ने मिलकर 80 में से सिर्फ नौ महिलाओं को चुनावी मैदान में उतारा है. उनमें भी ज्यादातर सजायाफ्ता मुजरिमों की पत्नियां हैं. कहीं रेप के सजायाफ्ता राजवल्लभ की पत्नी…

Read More

जानिये कौन जाति राजनीतिक रूप से मजबूत है बिहार में?

अब जबकि बिहार में दोनों प्रमुख गठबंधनों के उम्मीदवारों की सूची जारी हो गयी है, ऐसे में यह देखना दिलचस्प होगा कि बिहार की कौन सी जाति राजनीतिक रूप से मजबूत है. हालांकि लोकतंत्र का सिद्धांत इस बात की खिलाफत करता है कि मतदाताओं को जात और धर्म से परे हटकर मतदान करना चाहिए. मगर जमीनी हकीकत यह है कि आज देश में ज्यादातर मतदान इसी आधार पर हो रहे हैं. इस लोकसभा चुनाव में तो बिहार में जाति ही सबसे बड़ा मुद्दा है. राजनीतिक दल न सिर्फ टिकट का…

Read More